mobilenews
miraj
pc

तकनीकी एवं प्रबंधन शिक्षण संस्थानों से बदलेगी तस्वीर : मुख्यमंत्री

| January 29, 2012 | 0 Comments

बीएनपीजी गल्र्स वार्षिकोत्सव ‘‘मयूरी’’ 2012 का समापन

बी.एन.कॉलेज में समारोह में मंचासीन अतिथि।

udaipur. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य में तकनीकी एवं प्रबंधन शिक्षण संस्थानों से शिक्षा के नये आयाम स्थापित होने के साथ रोजगार के नये अवसर सृजित होने से शिक्षा की तस्वीर बदलेगी। उन्होंने कहा कि उच्च शिक्षा के लिए जोधपुर में आईआईटी, उदयपुर में आईआईएम तथा अजमेर में केन्द्रीय विश्वविद्यालय स्थापित हो चुके हैं। राज्य सरकार कोटा में आईआईआईटी स्थापित करने का प्रयास कर रही हैं। इन संस्थानों के खुलने से प्रदेश में सूचना, तकनिकी एवं प्रबंधन के क्षेत्रा में रोजगार के अवसरों में वृद्धि होगी। मुख्यमंत्री रविवार शाम भूपाल नोबल्स स्नातकोत्तर कन्या महाविद्यालय के वार्षिकोत्सव ‘‘मयूरी 2012’’ के समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे।

समारोह में उपस्थित जनसमूह।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में प्रदेश सरकार ने पंचायतीराज संस्थाओं में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देकर अनूठा प्रयास किया हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में महिलाओं को और अधिक अधिकार सम्पन्न बनाकर हम पूर्व प्रधानमंत्री राजीवगांधी के सपनों को साकार कर पायेंगे।
उन्हों ने कहा कि परिवार, समाज, कौम, प्रदेश और देश के विकास के लिए शिक्षा का विस्तार आवश्यक है। उन्होंने समाज के पंच—पटेलों एवं जन प्रतिनिधियों से कहा कि वे संकल्प ले कि गांव का कोई भी बालक—बालिका शिक्षा से वंचित नही रहे, शिक्षा के अभाव में प्रदेश का विकास संभव नही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में उच्च शिक्षा क्षेत्र में माहौल बनने लगा हैं। प्रदेश में अनेक कॉलेज, नर्सिग संस्थान, एमबीए कॉलेज, पॉलिटेक्निक एवं इंजीनियरिंग महाविद्यालय खोले गए हैं। इनके खुलने से अब प्रदेश में छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए दूसरे प्रदेशों में नही जाना पड रहा हैं। हमारे विश्वविद्यालयों में जहां उच्च शिक्षा की गुणात्मकता में सुधार हुआ वहीं रिसर्च गतिविधियों में भी विस्तार हुआ हैं।     उन्होंने कहा कि राजीव गांधी के देश को 21 वी सदी में ले जाने के सपने को पूरा करने के लिए सूचना क्रांति का विस्तार हुआ जिसके कारण आज हम विश्व के प्रत्येक विकासित देश से सूचनाओं एवं तकनिक का आदान—प्रदान कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सूचना क्रांति के उपयोग के कारण देश विकासशील देशों की अग्रणी पंक्ति में आ खडा हुआ हैं। उन्होंने कहा कि वैश्वीकरण के दौर में प्रदेश में निवेशक आ रहे है जिसके कारण प्रदेश में युवाओं को राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय प्रतिष्ठानों में रोजगार मिल रहा हैं। मुख्यमंत्री ने भूपाल नोबल्स संस्थान द्वारा विश्वविद्यालय स्थापित करने की प्रक्रिया पर चर्चा करते हुए कहा कि वे नियमों के तहत इस प्रक्रिया को जल्द पूरा करवायेंगे।

पुरस्कार वितरण : मुख्यमंत्री ने भूपाल नोबल्स संस्थान के विभिन्न क्षेत्रों में श्रेष्ठ 36 विद्यार्थियों को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया। अध्यक्षता करते हुए सांसद रघुवीर मीणा ने कहा कि प्रदेश सरकार महिला शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए अनेक प्रयास कर रही है। इन प्रयासों के अच्छे परिणाम सामने आने लगे हैं। उन्होंने भूपाल नोबल्स संस्थान द्वारा महिला शिक्षा के क्षेत्रा में किए जा रहे प्रयासों की प्रशंसा की। विशिष्ट अतिथि के रूप में खेल एवं युवा मामलात राज्यमंत्री मांगीलाल गरासिया भी मंचासीन थे।

इस मौके पर जिला प्रमुख मधु मेहता, समाजसेवी लालसिंह झाला, विद्या प्रचारिणी सभा के उपाध्यक्ष तेजसिंह बान्सी, भूपाल नोबल्स संस्थान के प्रबंध निदेशक डॉ.निरंजननारायण सिंह, संयुक्त मंत्री पदमसिंह चूण्डावत, वित्त मंत्री कृष्णसिंह कच्छेर, कॉलेज के प्राचार्य एन. एल. शर्मा, मनोहरसिंह कृष्णावत सहित बडी संख्या में छात्र व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Tags: , , , ,

Category: News

Leave a Reply

udp-education