mobilenews
miraj
pc

क्रय विक्रय सहकारी समिति का राज्य में पहला भवन गोगुंदा में

| April 13, 2013 | 0 Comments

सहकारिता की मजबूती से किसानों का जीवन स्तर सुधरा

130408Udaipur. राजस्थान में सबसे पहला क्रय विक्रय सहकारी समिति का भवन गोगुन्दा में बनेगा। 25 लाख की लागत से बनने वाले इस भवन का लगभग 75 प्रतिशत कार्य हो चुका है और आचार संहिता से पूर्व भवन का उदघाटन करा दिया जाएगा।

यह जानकारी श्री गणेश क्रय विक्रय सहकारी समिति, गोगुंदा के अध्यक्ष हरिसिंह झाला ने दी। वे यहां जनजाति विभाग के प्रतापनगर स्थित कार्यालय में पीडीएस गोदाम एवं कार्यालय के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे।
उन्होंनने बताया कि 13 नवम्बर 2012 को सहकारिता मंत्री परसादीलाल मीणा द्वारा उक्त भवन की आधारशिला रखी गई। झाला ने बताया कि पीडीएस के कार्यो में गति लाने तथा राजस्थान में नम्बर वन क्रय विक्रय सहकारी समिति बनाने हेतु उदयपुर के जनजाति विभाग में क्रय विक्रय का गोदाम एवं कार्यालय खोला गया है, जिससे गोगुन्दा, कोटड़ा एवं बडगांव के राशन वितरण, उर्वरक वितरण के कार्य में गति लाई जायेगी। देहात कांग्रेस जिलाध्यक्ष लालसिंह झाला ने किया। अध्यकक्षता डिप्टी रजिस्ट्रार डॉ. अश्विनी वशिष्ठ ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में सेन्ट्रल कॉपरेटिव बैंक अध्यक्ष विजेन्द्रसिंह सारंगदेवोत, भूमि विकास बैंक अध्यक्ष मथुरेश नागदा, कृषि मण्डी अध्यक्ष मगनीबाई पटेल, सहकार संस्थापक गणेशलाल नागर, उदयपुर क्रय विक्रय अध्यक्ष दिनेश नागदा, सहकार संघ अध्यक्ष निरंजन शर्मा, फल सब्जी मण्डी अध्यक्ष मोडसिंह सिसोदिया, गिर्वा ब्लॉक अध्यक्ष भगवतसिंह झाला मौजूद थे।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं उदघाटनकर्ता जिलाध्यक्ष लालसिंह झाला ने सहकारिता के आन्दोलन को जन-जन का आन्दोलन बनाने पर जोर देते हुए कहा कि सहकारिता के माध्यम से किसानो एवं आमजन को राज्य एवं केन्द्र सरकार की योजनाओं का लाभ दिलाते हुए किसानो का जीवन स्तर ऊंचा उठाया जा सकता है। उन्होंने वैश्विक मंदी के इस दौर में भारत मे मंदी का कम असर रहने पर सहकारी संस्थाओं को अहम जिम्मेदार बताया। कार्यक्रम में कांग्रेस सचिव कमलसिंह चौधरी, किसान कांग्रेस महासचिव रमेशपुरी, प्रदेश युवा कांग्रेस सचिव शंकर चंदेल, जयन्तीलाल पारीक, व्यवस्थापक रामसिंह, प्रवक्ता हेमन्त श्रीमाली आदि मौजूद थे।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Tags: , ,

Category: News

Leave a Reply

udp-education