mobilenews
miraj
pc

स्थानीय प्रतिभागियों ने दिखाई प्रतिभा

| October 10, 2017 | 0 Comments

दशहरा दीपावली मेला आरंभ

उदयपुर। खाई के पान बना रस वाला…’, ‘तुम मिले दिल खिले…’ जैसे एक से एक शानदार नगमें, ठहाकों व डांस की शानदार प्रस्तुतियों के बीच शहर के प्रतिभाओं ने देर रात तक समा बांधे रखा। कभी मंच पर सुरम्य बांसुरी वादन की धुन थी तो कभी लोक व फिल्मी गीतों पर बच्चों ने जम कर अपनी प्रतिभा बताई।

मौका था दीपावली मेला 2017 को जिसका शानदार आगाज मंगलवार शाम को निम्बार्क पीठ, अस्थल आश्रम के मेवाड महामण्डलेश्वर श्री रासबिहारी शरण के पावन सानिध्य में हुआ। मेले के उद्घाटन के बाद अतिथियों द्वारा गणेशजी, सरस्वती के सामने दीप प्रज्जवलित किया। इस मौके पर उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलचंद मीणा, समाज सेवी दिनेश भट्ट, गोपालकृष्ण शर्मा, अलका मूंदडा सम्मानीय अतिथि थे। इस अवसर पर महापौर चन्द्रसिंह कोठारी, उपमहापौर लोकेश द्विवेदी, उपायुक्त भोज कुमार, आयुक्त सिद्धार्थ सिहाग ने अतिथियों को मेला भ्रमण करवाया। भ्रमण पश्चात सांस्कृतिक संध्या की शुरूआत में सर्वप्रथम रामदरबार, गणेश जी, सरस्वती जी ईश वंदना की गई तद्पश्चात अतिथियों का माल्यार्पण किया गया।
मंच पर सम्मानित अतिथि निम्बार्क पीठ, अस्थल आश्रम के मेवाड महामण्डलेश्वर श्री रासबिहारी शरण शास्त्री, उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलचंद मीणा, समाज सेवी दिनेश भट्ट, गोपालकृष्ण शर्मा आदि सम्मानित अतिथियों का माल्यापर्ण कर स्वागत किया गया। मंच संचालन मेला संयोजक एवं सांस्कृतिक समिति अध्यक्ष जगदीशचन्द्र मेनारिया ने किया।
स्वागत रस्म में महापौर ने निगम की ओर से सबका आभार व्यक्त किया। प्रवेश के लिए किसी भी तरह की परेशानी ना हो इसके लिए इस बार मेले में टाउनहॉल मुख्य द्वार, लिंक रोड वाले द्वार के अलावा मेवाड़ मोटर्स के सामने आरसीए कैम्पस से भी रहेगा। पार्किंग के लिए इस बार हाथी वाले पार्क में नवनिर्मित पार्किंग, श्रमजीवी कॉलेज परिसर, लिंक रोड, नवनिर्मित पीछे वाली सडक़ पर भी पार्किंग की जा सकेगी। यह मेला आमजन के लिए है और मेले में आयोजित होने वाली प्रतिदिन सांस्कृतिक संध्याओं में किसी कोई परेशानी नहीं हो, इसके लिए समय से पूर्व आकर अपनी जगह सुनिश्यित कर लेवें और सांस्कृतिक संध्याओं का पूर्ण आनंद लें। शहर की जनता 12 अक्टूबर को प्रसिद्ध भजन व गजल सम्राट अनूप जलोटा व साथियों की गजल संध्या, 13 को अभिजीत भट्टाचार्य की सिंगर नाइट, 14 को वंडर सीमेंट द्वारा प्रायोजित कवि सम्मेलन, 15 अक्टूबर को दिलबाग सिंह की पंजाबी नाइट व सांस्कृतिक संध्याओं के अंतिम दिन 16 अक्टूबर को क्योश्चन मार्क क्रू एवं डायनेमिक क्रू ग्रुप की ओर से डांस नाइट का आनंद ले सकेगी।
प्रेस समिति अध्यक्ष हंसा माली ने बताया कि स्थानीय कलाकारों के चयन के निर्णायकों ने काफी परिश्रम किया है और श्रेष्ठ प्रतिभाओं को मंच पर लाया गया है। मेला संयोजक एवं सांस्कृतिक समिति अध्यक्ष जगदीशचन्द्र मेनारिया ने बताया कि सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरूआत विक्रम सोनी ने गणेश वंदना से की। इसके बाद गर्विता बापना ने गणेश स्तुति नृत्य की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम की अगली शृंखला में ईशान जैन ने ‘माई चुनर…’ गाना, दिव्यांशी भट्ट ने ‘लागा चुनरी में दाग छुपाउ कैसे…’ गाना, अजरा खान ने गाना, रिद्धी मेनारिया ने डांस, रोशनी बोस ने डांस, हिप्नोटाइजर ग्रुप ने डांस, श्रीराम ग्रुप ने डांस, कार्तिक राज सिंह ने कविता, युग नागदा ने ‘ये दिल ना…’ गाना, निखिल शर्मा ने ‘ओ ओ जाने जाना…’ गाना, हरिश वर्मा ने ‘छुपाना भी नहीं आता, जताना भी नहीं आता…’ गाना, गौरव शर्मा ने ‘ये जो मोहब्बत है ये उनका है काम…’ गाना, सानिया बानो ने ‘काल्यो कूद पड्यो मेला में…’ डांस, देवेन्द्र सिंह पाल ने ‘नाम तेरा…’ पर डांस, काजल राव ने ‘मोहे रंग दो लाल…’ पर डांस पर प्रस्तुति दी। अंजि ग्रुप ने हीपोप डांस, राकेश पूर्बिया ने ‘खाई के पान बना रस वाला…’ पर गाना, दीपिका तंतकार ने ‘एक दो तीन…’ गाना, अनुराधा खिलोलिया ने ‘राम सा पीर…’ गाना, ऋषिका डागलिया ने ‘पी या तू अब तो आजा…’ गाना, मेहल काजी ने ‘प्रेम रत्न धन पायो…’ डांस, विवेक चौहान ने डांस, केरल समजम एंड शंख होली ग्रुप ने डांस, सोनू साफी ने मिमिक्री, विजय नाथ ने ‘तुम मिले दिल खिले…’ गाना, राजवीर सिंह ने ‘पर्दा है पर्दा…’ गाना, भूपेश भावसार ने ‘संदेशे आते है…’ गाना, रोहित बंसल युवा क्रांति ग्रुप ने कॉमेडी नाटक, सीताराम बलाई एंड ग्रुप ने ‘छाप तिलक सब किनी…’ गाना, भरत पंवार ने बांसुरी वादन, गणेश डांगी, यथार्थ जैन ‘दमा दम मस्त कलंदर…’, मोक्षदा व यथार्थ उपाध्याय ने ‘कान्हा सो जा जरा…’, मिदिरा सिंह ‘जिया जिया…’, दर्श भल्ल ने ‘गुलाबी आंखे…’, दिव्यांशी ने ‘उनसे मिली नजर…’ गाने की सुंदर प्रस्तुतियां दी।
आज भी रहेगी स्थानीय प्रतिभा नाईट की धूम : प्रेस समिति अध्यक्ष हंसा माली ने बताया कि सांस्कृतिक संध्या के दूसरे दिन स्थानीय प्रतिभा नाईट के तहत उभरते सितारे कार्यक्रम होगा।
मिलेगी प्रोत्साहन राशि :- मेला संयोजक एवं सांस्कृतिक समिति अध्यक्ष जगदीशचन्द्र मेनारिया ने बताया कि स्थानीय प्रतिभाएं व उभरते सितारे में जो भी प्रतिभागी शामिल हुए है उन्हें निगम की ओर से प्रोत्साहन राशि स्वरूप एकल प्रतिभागी को 1100 रूपए व समूह को 2100 रूपए, प्रशस्ति पत्र व मेमेंटो दिया जाएगा।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Tags: , , , , ,

Category: Featured

Leave a Reply

udp-education