mobilenews
miraj
pc

वो अब सब चक्की पीसेंगे, हम बेचेंगे दलिया

| October 29, 2017 | 0 Comments

लायन्स क्लब अरावली द्वारा कवि सम्मेलन में लगे हास्य के ठहाके

उदयपुर। लायन्स क्लब अरावली व अरावली लायन्स चेरिटेबल ट्रस्ट के साझे में लोककला मण्डल के मुक्ताकाशी रंगमंच पर आयोजित हास्य कवि सम्मेलन में जहंा हास्य कवियों की रचानाओं से हास्य के ठहाके लगे तो वहीं अन्य कवियों द्वारा प्रस्तुत की गई देशभक्ति की रचानाआंे ने बाजूओं में जोश भर दिया। श्रृगांर रस की कवियित्री की रचना ने श्रृगांर का ऐसा रस घोला की सभी उसी में खो गये।

हास्य कवि अरूण जेमिनी ने अपनी रचना में कहा यूपी के चुनाव परिणाम वाले दिन अखिलेश ने राहुल को फोन किया,लगता है हम बुरी तरह हार रहे है, तो हद है, राहुल बोला-तेरी तू जानें हमें तो आदत है…, कवि जबलपुर के सुदीप भोला ने रचना रामदेव गुस्से में बोले, कुछ बाबा थे छलिया, अब वो चक्की पीसेंगे,हम बेचंेगे दलिया… पेश की तो श्रोताओं के हंसी के फव्वारे छूट गये, कवि आशीष अनल ने अपनी रचना देश चाहता है अपनी संकल्प शक्ति ऐसी कर दो,इधर कन्हैया,उधर औवेसी की ऐसी की तैसी कर दों,गद्दारों की गद्छारी के सारे अंहकार तोड़ो, जो सैनिक पर पत्थर फेंक,उसको जिन्दा मत छोड़ो पर श्रोताओं ने जमकर तालियों की दाद दी, व्यंगकार मध्यप्रदेश के मुरैना के तेज नारायण शर्मा ने रचना इस लोकतंत्र का दुर्भाग्य देखिये,सूर्योदय लाने का वादा वे लोग कर रहे है, जिनका खुद का चुनाव चिन्ह लालटेन है…पर जनता ने तालियों के साथ स्वागत किया।
कवियित्री हरियाणा की अम्बिका बालिया ने अपनी रचना किया जौहर जहंा रानी ने देखो ये वो आगाज है,मिटे राणा भी अपनी आन पर से ही वो प्रांगण है, लगाना है तिलक मथ्रे पे, तो घर साथ ले जाना,राजस्थान की माटी तो चंदन से भी पावन है,, प्रस्तुत की तो श्रोताओं ने देर तक तालियां बजा कर रचना की प्रस्तुति पर दाद दी। मुबंई के चंदन राय ने चाह गुमनाम भी तो होती है और बदनाम भी तो होती है,रात सूरज से मिल नहीं पाती,बीच में शाम भी तो होती है…की प्रस्तुति दी।इस अवसर पर कुंभलगढ़ के वयोवृद्ध कवि माधव दरक ने मेवाड़ धरा पर रचित अपनी रचनाएं पेश कर सभी का दिल जीत लिया।
कवि एवं सूत्रधार राव अजातशत्रु ने अपनी रचना सरहद पर तैनात सिपाही और तिरंगा कहता है,सबसे पहले अपने दिल में हिन्दुस्तान जरूरी है। बलिदानों की अमर ज्योति में परवाने खो जाते है, खो जाते आंखें के तारें,मस्ताने सो जाते है, सो जाते है सरहद पर जाबाज सिपाही शेर अगर और अगर देश की बात चले तो दिवाने हो जाते है… ने श्रोताओं की बाजुओं में जोश भर दिया।
लायन्स क्लब अरावली की ओर से बेदला में निर्मित कराये गये वृद्धाश्रम के नियमित संचालन हेतु आयोजित किये गये इस कवि सम्मेलन में समारोह में क्लब की ओर से नारी गौरव अंलकरण सम्मान श्रीमती दीपिका राठौड़ एवं रेणु बांठिया कोशहर के अन्य प्रतिष्ठित नागरिकों संजीव शर्मा, राजेन्द्रप्रसाद गुप्ता, राकेश कुमार गुप्ता, जसवन्तसिंह मेवाड़ा, दीपिका राठौड़ को भामाशाह सम्मान तथा सिद्धार्थ मेहता, जी.एल.टांक, भंवरसिंह पंवार, मेहुल मेहता को मेवाड़ गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया।
मुबंई के समाजसेवी नरेश लोढ़ा को प्रदान किये गये अभिनंदन पत्र का वाचन लायन डॉ. किरण जैन ने कर उन्हें यह प्रदान किया। क्लब के वरिष्ठ सदस्य श्याम सिरोया ने प्रोजेक्ट के बारें में जानकारी दी। प्रारम्भ में क्लब अध्यक्ष दीपक बोर्दिया ने प्रारम्भ में अतिथियों का स्वागत कर क्लब द्वारा आगामी समय में किये जाने वाले कार्यक्रमों की जानकारी दी।
कवि सम्मेलन के प्रेरणा पाथेय के रूप में गृहमंत्री गुलाबचन्द कटारिया, युवा रत्न शिरोमणि मुंबई के नरेश लोढ़ा, मुख्य अतिथि कैलाश चन्द्र बोर्दिया तथा समारोह के अध्यक्ष के रूप में प्रन्यास चेयरमैन रविन्द्र श्रीमाली का दिलीप सुराणा, सचिव भूपेन्द्र नागौरी, किरण जैन, श्याम सिरोया ने उपरना ओढ़ा़कर ,पगड़ी पहनाकर एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Tags: , , , , ,

Category: Featured

Leave a Reply

udp-education