mobilenews
miraj
pc

सम्पूर्ण भारत एक कुटुम्ब है: राज्यपाल मृदुला सिन्हा

| November 9, 2017 | 0 Comments

गोवा के मडगांव में ऑक्टेव की रंगारंग शुरूआत

मडगांव। पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र, उत्तर पूर्व क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र दीमापुर तथा गोवा सरकार के कला एवं संस्कृति निदेशालय के संयुक्त तत्वावधान में मडगांव में आयोजित तथा पूर्वोत्तर भारत के आठ राज्यों की लोक संस्कृति के इंद्रधनुष से सजा संवरा ‘‘ऑक्टेव’’ मंगलवार को प्रारम्भ हुआ। गोवा की राज्यपाल श्रीमती मृदुला सिन्हा ने दीप प्रज्ज्वलित कर पांच दिवसीय उत्सव का उद्घाटन किया।

मडगांव के रवीन्द्र भवन में आयोजित पूर्वोत्तर राज्यों के कला उत्सव में गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने कहा कि सम्पूर्ण भारत वसुधैव कुटुम्बकम है। भारत की संस्कृति अति प्राचीन होते हुए सम्पूर्ण विश्व को एक सूत्र में पिरोने का कार्य करती है। उन्होंने कहा कि भारत के अलग-अलग प्रांतों के अपने लोक नृत्य, संगीत,,पहनावा और खान-पान है और इनको एक दूसरे राज्यों में पहुंचाना एक भारत श्रेष्ठ भारत की भावना को प्रबल करता है। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरूआत पूर्वोत्तर राज्यों के कॉस्ट्यूम शो से हुई जिसमें गारो, खासी, निशी, मेयती, पावी, मारा आदि जातियों के पारंपरिक परिधानों का प्रदर्शन किया गया।
इसके बाद एक-एक कर सभी कलाओं का कोरियोग्राफ किया कार्यक्रम मंच पर अवतरित हुआ जिसमें मिजोरम का सारलाम काई, नागालैण्ड का नागा डांस, सिक्किम का राय चंडी, त्रिपुरा का ममिता, मेघालय का शाद सुक मिन्सिम आदि नृत्यों में जहां पूर्वोततर की माटी की सौंधी महक गोवा की हवाओं में समाहित हो गई। कार्यक्रम में ही मिजोरम का चेराव -बेम्बू डांस में समानान्तर बांसों के बीच गोंग की थाप पर थिरकती मिजो बालाओं ने सुंदर नजारा पेश किया।
मेघालय का वांगला नृत्य जहां दर्शकों द्वारा पसंद किया गया वहीं सिक्किम के सिगी छम में हिम शेरों ने अपने मालिक के साथ अठखेलियां करतें हुए समां बांध दिया। इइसे पूर्व गोवा के कला एवं संस्कृति मंत्रीय श्री गोविन्द गावड़े ने गोवा सरकार की ओर से आयोजित उत्सव के बारे में जानकारी दी तथा कलाकारों का अभिनन्दन किया। केन्द्र निदेशक फुरकान खान ने अतिथियों का स्वागत करते हुए ऑक्टेव के आयोजन तथा इसमें शामिल कलाओं व गतिविधियों की जानकारी दी। ऑक्टेव में ही रवीन्द्र भवन परिसर में ट्राइफेड द्वारा शिल्प हाट लगाई गई जिसमें उत्तर पूर्व के राज्यों के शिल्पकारों द्वारा विभिन्न कलात्मक वस्तुओं की बिक्री की जा रही है। इसके अलावा रवीन्द्र भवन में ही ललित कला अकादमी नई दिल्ली की ओर से पूर्वोत्तर राज्यों के चित्रकारों द्वारा बनाई पेन्टिंग्स भी प्रदर्शित की गई है। उद्घाटन अवसर पर मडगांव की मेयर डॉ. बबिता प्रभूदेसाई व रवीन्द्र भवन के चेयरमेन प्रशांत नायक उपस्थित थे।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Tags: , , ,

Category: News

Leave a Reply

udp-education