mobilenews
miraj
pc

क्रेता-विक्रेता के बीच हुए विवाद को निपटायेगी आईआईएमएम

| May 20, 2018 | 0 Comments

इण्डियन इन्स्टीट्यूट आॅफ मटेरियल मेनेजमेन्ट की नेशनल कोन्सिलर्स की बैठक

उदयपुर। इण्डियन इन्स्टीट्यूट आॅफ मटेरियल मेनेजमेन्ट की नेशनल कोन्सिलर्स की दो दिवसीय 168 वीं बैठक प्रतापनगर-भुवाणा बाईपास स्थित होटल ब्लू फेदर में आयोजित की गयी। जिसमें देशभर से 60 शहरों के 60 से कोन्सिलर्स के साथ-साथ नेशनल चेयरमेन जी.के.सिंह एवं नेशनल सेक्रेट्री एल.आर.मीणा ने भाग लिया।

सेमिनार संयोजक के.एस.मोगरा एवं उदयपुर ब्रान्च चेयरमेन वी.पी.राठी ने बताया कि बैठक में पहली बार यह निर्णय लिया कि गया कि भी उद्योग में क्रेता-विक्रेता के बीच कभी कभार होने वाले वाद-विवाद को इण्डियन इन्स्टीट्यूट आॅफ मटेरियल मेनेजमेन्ट की केन्द्रीय कमेटी निपटायेगी।
उदयपुर शाखा की सचिव प्रिया मोगरा ने बताया कि बैठक में इस पर भी चर्चा की गई कि उद्योगों में किस तरह से उचित माल प्रबन्धन एवं उचित माल परिवहन कर लागत को कम किया जा सकें। उन्होेंने बताया कि आने वाले समय में क्रय अधिकारियों की भूमिका से कारोबार पर पड़ने वाले प्रभाव पर भी चर्चा की गई।
बैठक में जिसमें देश भर जमशेदपुर, बैंगलोर, चण्डीगढ़, विशाखापट्टनम, लखनउ, हैदराबाद, कानपुर, कोचीन,बड़ौदा, औरंगाबाद, मुबंई, दिल्ली,जयपुर, अलवर कलकत्ता सहित अनेक शहरों से कोन्सिलर्स ने भाग लिया।
देश के उद्योग बढती महंगाई के कारण उद्योग पर पड़े रहे लागत के अतिरिक्त भार को कम नहीं कर पाने से परेशान है। साथ ही ट्रांसपोर्टेशन कोस्ट भी एक बडी समस्या बन कर उभर रही है। ऐसे हालत में सेमिनार में मुख्य रूप से माल प्रबन्धन के संबंध में किस तरह उद्योगों में कम लागत,जीरो इन्वेन्ट्री, एवं समय पर प्रबन्धन कर उद्योग को प्रगति के साथ आगे ले जाया जा सकें, इस पर गहन चिन्तन किया गया।
राष्ट्रीय अध्यक्ष जी.क.ेसिंह ने बताया कि संस्था द्वारा इस विषय पर देशभर में पोस्ट ग्रेजुएट, ग्रेजुएट एवं डिप्लोमा कोर्सेस चलाये जा रहे है जिससे हजारों छात्र लाभान्वित हो रहे है।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Tags: , , , , ,

Category: Featured

Leave a Reply

udp-education