mobilenews
miraj
pc

सस्टेनबल डवलपमेंट के लिए हिन्दुस्तान जिंक पुरस्कृत

| August 17, 2018 | 0 Comments

फीमी ने 52 वीं वार्षिक आम बैठक समारोह में किया सम्मानित

हिन्दुस्तान जिंक की इकाई सिन्देसर खुर्द खदान को ’बेस्ट ओवर आल परफोरमेंस इन सस्टेनबल डवलपमेंट के क्षेत्र में वर्ष 2017-18 में उल्लेखनीय योगदान के लिए फेडरेषन आॅफ इण्डियन मिनरल इण्डस्ट्रीज (फीमी) ने ’बाला गुलशन टण्डन एक्सीलेन्स अवार्ड’ से पुरस्कृत किया है।

भारतीय खनिज उद्योगों के लिए प्रतिष्ठत अवार्ड भारत सरकार के माननीय केन्द्रीय खान, ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने हिन्दुस्तान जिं़क को दिल्ली में आयोजित फीमी की 52वीं आमसभा में प्रदान किया। यह पुरस्कार हिन्दुस्तान जिं़क की ओर से राजीव बोरा, यूनिट हेड-सिन्देसर खुर्द माइन एवं दिगम्बर पाटील, प्रबन्धक-एनवायरमेंट, सिन्देसर खुर्द माइन ने दिल्ली में एक समारोह में ग्रहण किया।
राजीव बोरा को सस्टेनबल डवलपमेंट के लिए खदानों में उत्कृष्टता प्राप्त करने में महत्वपूर्ण योगदान के लिए भी सम्मानित किया है। हिन्दुस्तान जिं़क के हेड-कार्पोरेट कम्यूनिकेषन, पवन कौशिक ने कहा कि ’’ फीमी के इस पुरस्कार से हमें बेहद खुशी है। सिन्देसर खुर्द खदान भारत की सबसे बड़ी भूमिगत खदान तथा देश की सबसे आधुनिक मशीनीकृत खदान है। हिन्दुस्तान जिं़क पर्यावरण नियमों का सख्ती से अनुपालन करता है और इसके सभी आपरेशन्स में पर्यावरण अनुकूल प्रौद्योगिकियों का उपयोग करता है। यह पुरस्कार हिन्दुस्तान जिं़क के जीरो वेस्टेज एवं जीरो डिस्चार्ज के प्रयासों को प्रमाणित करता हैै। भारत का एकमात्र जस्ता-सीसा एवं चांदी उत्पादक और विश्व में धातु उत्पादन का नेतृत्व के कारण हिन्दुस्तान जिं़क को ’जिं़क आॅफ इण्डिया’ कहा जाता है।
फीमी द्वारा ’बाला गुलशन टण्डन एक्सीलेंस अवार्ड’ आर्थिक, सामाजिक, पर्यावरण, स्वास्थ्य एवं सुरक्षा के संदर्भ में आवेदक के समग्र प्रदर्शन में उत्कृष्टता को मान्यता देने के लिए रूपांकित करता है। पुरस्कार के मूल्यांकन में प्रतिबद्धता, स्व-मूल्यांकन, पारदर्शिता और गवर्नेन्स जैसे क्षेत्रों को भी शामिल किया जाता है।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Tags: , , , ,

Category: Featured

Leave a Reply

udp-education