mobilenews
miraj
pc

Tag: bhagwat katha udaipur

रूकमणी विवाह प्रसंग का हुआ वर्णन

रूकमणी विवाह प्रसंग का हुआ वर्णन

| June 11, 2018 | 0 Comments

उदयपुर। सत्संग महिला मण्डल द्वारा राजेन्द्र नगर गायरियावास स्थित अग्रवाल भवन में आयोजित किये जा रहे भगवत पुराण कथा में स्वामी आनन्तराम महाराज ने रूकमणी विवाह प्रसंग पर कहा कि कृष्ण ब्रह्मस्वरूप है और उनकी रानियंा मायास्वरूप।

Continue Reading

जीवन स्वच्छ बनाने के लिए संगत सुधारें : हरिराय बावा

जीवन स्वच्छ बनाने के लिए संगत सुधारें : हरिराय बावा

| December 28, 2015 | 0 Comments

माहेश्वरी सदन में सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा आरंभ उदयपुर। श्रीमद्भागवत का वाचन करते हुए हरिराय बावा जी ने कहा कि अपने जीवन को स्वच्छ बनाएं। जैसे वातावरण में रहेंगे, वैसी ही प्रवृत्ति होगी। संगत अच्छी रखें। जीवन को स्वच्छ बनाएं और समय निकालें। आज के भौतिक युग में टीवी के आदी हो गए हैं जो […]

Continue Reading

प्रभु कृपा होने पर ही कथा श्रवण संभव : उत्तम स्वामी

प्रभु कृपा होने पर ही कथा श्रवण संभव : उत्तम स्वामी

| October 28, 2014 | 0 Comments

श्रीमद् भागवत कथा का दूसरा दिन उदयपुर। ध्यानयोगी उत्तम स्वामी महाराज ने कहा कि अनेक लोग कथा सुनने में आलस्य करते है परन्तु जब तक ईश्वर की कृपा ना हो तब तक ईश्वरीय शब्द श्रवण, नमन करने की कृपा नही होती। कथा श्रवण करना परमार्थ है। जन्म-जन्मांतर तक साथ चलने वाला परमार्थ कहलाता है।

Continue Reading

झांकियों से बताया शिव-पार्वती विवाह

झांकियों से बताया शिव-पार्वती विवाह

| May 6, 2014 | 0 Comments

उदयपुर। झाड़ोल तहसील के गोगला गांव स्थित आद्याशक्ति शक्तिपीठ परिसर में चल रही भागवत कथा के चौथे दिन कथावाचक बालसंत प्रियांशु महाराज ने शिव-पार्वती का विभिन्न सजीव झांकियों के माध्यम से वर्णन सुनाया।

Continue Reading

सच्चे मन की भक्ति ही सार्थक : प्राची देवी

सच्चे मन की भक्ति ही सार्थक : प्राची देवी

| May 2, 2014 | 0 Comments

उदयपुर। बड़ी में हो रही सात दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा के दूसरे दिन व्यासपीठ से प्राची देवी ने कथा के माध्यम से भगवान शिव की बारात का अनूठा वर्णन किया। देवी सती ने पार्वती के रूप में भूमि पर फिर जन्म लेकर अपनी तपस्या के द्वारा ही भगवान शिव को प्राप्त कर लिया।

Continue Reading

अध्यात्म एवं विज्ञान का संगम है भागवत

अध्यात्म एवं विज्ञान का संगम है भागवत

| February 16, 2014 | 0 Comments

भागवत साक्षात परमात्मा का रूप : व्यास उदयपुर। स्व. पं. धरणीधर शास्त्री की स्मृति में आयोजित भागवत सप्ताह के तहत समापन के अवसर पर  पं. गोपाल कृष्ण व्यास ने कहा कि भागवत कथा जीव का कारक है। यह ग्रन्थ नहीं अपितु धरती पर उद्धारक के रूप में  साक्षात परमात्मा का रूप है। मानव ही नहीं […]

Continue Reading

वेद-पुराणों का सार है भागवत

वेद-पुराणों का सार है भागवत

| May 14, 2012 | 0 Comments

आलोक संस्थान के व्यास सभागार में श्रीमद् भागवत कथा का तीसरा दिन उदयपुर. शिव पार्वती सेवा समिति तथा आलोक संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में जारी श्रीमद् भागवत कथा के दूसरे वृंदावन धाम से आए बालयोगी ईश्वरचंद महाराज ने बताया कि सबसे अधिक पापात्माएं कलयुग में ही हैं। सभी ग्रंथों का उद्देश्य इन पापात्माओं का उद्धार […]

Continue Reading

प्रभु मिलन की याद में मृत्यु का वरण करें

प्रभु मिलन की याद में मृत्यु का वरण करें

| May 6, 2012 | 0 Comments

उदयपुर। गोवत्स राधाकृष्ण महाराज ने कहा कि यह परम सत्य है कि मृत्यु को आना है। इसके आने के भय से मनुष्य जीना नहीं छोडऩा चाहिये। उस घड़ी को याद कर अपने जीवन को आनन्दमय बनाये कि मृत्यु उपरान्त प्रभु से मिलन होगा। यदि यह सोच कर अपने जीवन को जीयेंगे तो मुनष्य को जीवन […]

Continue Reading

धूमधाम से मनाया नन्दोत्सव

धूमधाम से मनाया नन्दोत्सव

| May 4, 2012 | 0 Comments

मालायें पहनना आसान लेकिन उसका निर्वहन करना कठिन उदयपुर। गोवत्स राधाकृष्ण महाराज ने कहा कि ईश्वर सच्चे दिल से पुकारने वाले भक्त से प्रसन्न होते है न कि लम्बी-लम्बी पूजा अर्चना करने वाले। गज मोक्ष कथा का वर्णन करते हुए उन्होनें कहा कि इंसान तो इंसान यहां तक पशु भी यदि ठाकुरजी को सच्चे दिल […]

Continue Reading

udp-education