mobilenews
miraj
pc

देश की रक्षा में महिलाओं का दायित्व पर संगोष्ठी

| March 11, 2019 | 0 Comments

उमड़ा श्रद्धा का ज्वार
उदयपुर। विश्व महिला दिवस के उपलक्ष्य में विज्ञान समिति, वरिष्ठ महिला प्रकोष्ठ एवं नवाचार महिला प्रकोष्ठ द्वारा कर्नल हेमन्त शर्मा के मुख्य आतिथ्य एवं प्रो.गायत्री तिवारी के विशिष्ठ आतिथ्य में देश के सैनिकों एवं बलिदानियों को समर्पित समारोह आज विज्ञान समिति परिसर में आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता डाॅ. के.एल. कोठारी ने की।

अतिथि स्वागत समिति अध्यक्ष डाॅ. एलएल धाकड़ ने किया। महिला सशक्तीकरण गतिविधियों का प्रतिवेदन प्रकोष्ठ प्रमुखा पुष्पा कोठारी ने प्रस्तुत किया और उन्होंने महिला की अस्मिता, महिमा, गरिमा एवं निर्णय लेने की स्वतंत्रता के संरक्षण को सशक्तीकरण बताया।

मुख्य अतिथि कर्नल हेमन्त शर्मा ने सशस्त्र सेना एवं अर्द्ध सैनिक बलों के युद्ध एवं शान्तिकाल में देश की रक्षा में बलिदानों की चर्चा की और उन्होंने कहा कि हम अपने ज्ञान एवं अनुभव की विरासत को बांट रही दुनियाँ से रूखसत हों। इससे पूर्व मुख्य अतिथि का परिचय कार्यकारी अध्यक्ष डाॅ. महीप भटनागर ने दिया। विशिष्ठ अतिथि प्रो. गायत्री तिवारी ने लीक से हटकर कहा कि महिला ही देश, समाज एवं परिवार की धुरी है लेकिन महिला सशक्तीकरण की धुरी पुरुष पिता, भाई एवं पति के रूप में होता है। उदयपुर की सुपरिचित सेवाभावी दक्ष स्त्री रोग विशेषज्ञ डाॅ. कमला कंवरानी को भी समारोह में उनकी समर्पित सेवाओं के लिए विशिष्ट सेवा सम्मान से सम्मानित किया गया।
महिला सशक्तिकरण तथा सैनिकों को वीरता और बलिदानों को समर्पित अनेक कविताएं, गीत और प्रकोष्ठ-सदस्याओं की प्रस्तुतियों ने समारोह को देशभक्ति के रंग में रंग दिया। शकुन्तला धाकड़ ने ‘कल्पना चावला’, सुन्दरी छतवानी ने ‘एनी बेसेन्ट’, पुष्पाजैन ने ‘महादेवी वर्मा’, डा. प्राची भटनागर ने ‘मेरीकाॅम’, उषादवे ने ‘फोेगटबहनों’ के अविस्मरणीय योगदान की चर्चा की। मंच संचालन विजयलक्ष्मी बंसल द्वारा किया गया। इस समारोह में विज्ञान समिति कार्यकारिणी के अनेक सदस्य, 150 महिलाओं और नगर के अनेक गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

Print Friendly, PDF & Email
Share

Category: Featured

Leave a Reply

udp-education